इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय में नाटक का मंचन

दिल्ली।  गुरु गोबिंदसिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय में ऋषिकेश वैद्य द्वारा रचित नाटक 'कौन है' का मंचन किया गया। युवा रंगकर्मी अनूप त्रिवेदी के चुस्त निर्देशन और अभिनय से सजे इस नाटक की विषय वस्तु मनुष्य की आदिम प्रवृत्ति भय और अजनबीपन थी।

अधेड़ गुप्ता दम्पति के घर आधी रात हुई दस्तक से उपजे तनाव और द्वन्द्व से रचे इस नाटक में विश्ववद्यालय के युवा अभिनेताओं ने अपने कैसे हुए अभिनय और प्रभावशाली संवाद अदायगी से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। योगेश कुमार ने मि गुप्ता, चित्रा पुरी ने मिसेज गुप्ता, शादाब खान ने समीर दीक्षित, सिद्धांत तलवार ने चौकीदार और अनूप त्रिवेदी ने अजनबी के पात्रों का अभिनय किया।

मंचन के प्रोडक्शन प्रभारी प्रो आशुतोष मोहन ने अंत में दर्शकों को संबोधित करते हुए कहा कि नाटक की विशेषता भय की सृष्टि करना नहीं है बल्कि इस भय और अजनबीपन से लड़ते हुए उस बिंदु पर पहुँचना है जहाँ इस दंपति में विश्वास और साहस की स्थापना होती है। उन्होंने कहा कि महानगरीय जीवन में जिस तरह लगातार एकाकीपन बढ़ रहा है उसमें ऐसा भय सचमुच चिंताजनक है। मंचन के नेपथ्य में धर्मसिंह बिष्ट, अवनी भटनागर, माहिम शर्मा, चेतना करनानी, श्रीकांत, मनाली डोगरा, शीतल बाल्या और हेमन्त द्विवेदी का सहयोग रहा वहीँ प्रकाश और अशोक ने विषय वस्तु के अनुसार संगीत रचना से दर्शकों को खासा प्रभावित किया।

मंचन के दौरान विश्वविद्यालय के अध्यापक, शोधार्थी और विद्यार्थी बड़ी संख्या में उपस्थित थे। 

____________

रिपोर्ट: प्रो आशुतोष मोहन, अधिष्ठाता, मनिविकी संकाय, गुरु गोबिंदसिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, द्वारका, दिल्ली 

 

सासिक सोशल मीडिया

  • facebook
  • Twitter
  • LinkedIn
  • Google Plus
  • Youtube

न्यूज़लेटर के लिए रजिस्टर कीजिए

सहयोगकर्ता: Nikesh